Political

क्या पीरजादा अब्बास सिद्दीकी की पार्टी बनेगी बंगाल में वोटकटवा पार्टी

मंजूषा चौधरी, विधानसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल में मुस्लिम मतदाताओं को अपनी ओर खींचने के लिए रस्साकशी शुरू हो चुकी है. इससे पश्चिम बंगाल की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस की चिंता बढ़ती जा रही है.

आपको बता दें कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को सीधी टक्कर बीजेपी दे रही है. भाजपा की छवि यहां मुस्लिम विरोधी रही है. ऐसे में तृणमूल कांग्रेस के लिए मुस्लिम मतदाता काफी महत्वपूर्ण हैं. भाजपा चाहती है कि इन मुस्लिम मतदाताओं का विभाजन हो जाए.

जबकि तृणमूल कांग्रेस मुस्लिम मतदाताओं को अपने पक्ष में रखने के लिए असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को हैदराबाद की पार्टी कहकर भाजपा का सहयोग करने के लिए बंगाल में चुनाव लड़ने की बात कह रही. ऐसे में एक अन्य मुस्लिम नेता हुगली के फुर्फूरा शरीफ पीरजादा अब्बास सिद्दीकी ने अपनी पार्टी बना ली, जिसे तृणमूल कांग्रेस के लिए घातक माना जा रहा है यूं कहें कि इसे वोट कटवा पार्टी के तौर पर देखा जा रहा है.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 से ठीक पहले अब्बास सिद्दीकी ने बहुत ही बड़ा सियासी दांव खेला. गत  गुरुवार को उन्होंने तृणमूल कांग्रेस से हट कर एक नयी पार्टी बनायी. इस पार्टी का नाम उन्होंने ‘इंडियन सेकुलर फ्रंट’ रखा है.

सूत्रों की मानें तो काफी लंबे समय से ही सिद्दीकी और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के बीच किसी बात को लेकर आनाकानी चल रही थी. इसी आनाकानी के बीच अचानक गुरुवार को सिद्दीकी ने अपनी अलग एक नई पार्टी बना ली.

कुछ दिनों पहले ही वह AIMIM के असदुद्दीन ओवैसी से मिले थे, जहां उन दोनों के बीच काफी गहरी बातचीत हुई थी.  माना जा रहा है कि वह ओवैसी के नेतृत्व में अपनी पार्टी का गठन करेंगे.

गुरुवार को उन्होंने अचानक ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें यह बताया कि वह एक अलग से पार्टी की स्थापना कर रहे हैं, जिसका नाम आईएसएफ है.  अपनी पार्टी के बारे में उन्होंने बड़े दावे के साथ घोषणा करते हुए कहा कि उनकी पार्टी भारत में प्रथम धर्मनिरपेक्ष मोर्चा होगा.
उनके अनुसार उनकी पार्टी धर्म मार्ग से भटक चुके लोगों को अपने सही मार्ग पर लाने का कार्य करेगा.

उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे वर्ग हैं, जिनको सही मार्ग में अपने धर्म का अर्थ पता है. बाकी सब अपने धर्म से भटक चुके हैं. वह उन लोगों को सही दिशा दिखाने में पूर्ण मददगार बननेवाला है, जो भी छोटी-छोटी जाति जो अभी भी पीछे रह गयी हैं, उनका विकास करना बहुत ही जरूरी है. उनमें मुसलमान, दलित यह सभी लोग आते हैं.

उन्होंने कहा कि उनका कार्य सभी भटके लोगों को सही मार्ग दिखाना है, उन्हें सही दिशा देना है, उन्हें उनके लक्ष्य की ओर ले जाना है. इस पार्टी के अध्यक्ष अब्बास और उनके भाई दोनों ही साथ मिलकर इस पार्टी को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button