Social

मिसाल : कला के प्रति जुनून से आत्मनिर्भरता का रंग भर रही नीरू हांडा

डेस्क: एक बड़े सैन्य अधिकारी की पत्नी नीरू हांडा आज कला के प्रति जुनून व अपनी कौशल प्रतिभा से आत्मनिर्भरता की मिसाल पेश कर रही हैं। उन्होंने शिक्षिका बनने के लिए अंग्रेजी साहित्य में अध्ययन किया लेकिन उनका मन हमेशा कहीं और लगा रहा। लिहाजा, खुद कुछ करने की चाहत व लगन की बदौलत वह आज फैशन डिजाइनिंग और कपड़ों पर रंग भरने की कला में महारत हासिल कर चुकी हैं। नीरू आज रंगबरसे क्रिएशंस का अपना ब्रांड तक खड़ा चुकी हैं। कला के प्रति उनका प्रेम इस कदर हावी है कि पारंपरिक शैली समेत आधुनिक विषयों व विभिन्न डिजाइनों को कैनवास पर उतारने में वह हमेशा मशगूल रहती है।

सेना में उच्च अधिकारी हैं नीरू के पति

नीरू के पति कोलकाता में सेना के पूर्वी कमान मुख्यालय में मेजर जनरल रैंक के वरिष्ठ अधिकारी हैं। वहीं, नीरू आज न सिर्फ खुद आत्मनिर्भर हैं बल्कि कई महिलाएं भी उनकी प्रेरणा से स्वनिर्भर होकर रचनात्मक कार्य कर रही हैं।नीरू बताती हैं कि खुद कुछ करने की चाहत ने मुझे मेरे पैशन को प्रोफेशन में बदल दिया। नीरू खासकर हाथ से डिजाइन किए हुए व रंगे हुए साड़ियां व कपड़े का कारोबार खड़ा कर चुकी हैं। अपने घर से ही वह यह काम करती है और आनलाइन माध्यम से उन्हें आज अपने हस्तनिर्मित उत्पादों के लिए काफी आर्डर भी मिल रहे हैं।

खुद कुछ करने की चाहत ने सपनों को दिए पंख

नीरू ने बताया- कपड़ा मेरा कैनवास है, मेरा दिन मेरे रंगों से शुरू होता है और तब तक पूरा नहीं होता जब तक मैंने कुछ पेंट नहीं किया। मैं सभी प्रकार के पेंट का उपयोग करता हूं, चाहे वह पिगमेंट डाई हो या फैब्रिक पेंट हो। दो बेटियों की मां नीरू कहती हैं- कपड़े पर पेंट व कला के निष्पादन में घंटों की कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है और मैं इसे बहुत प्यार और जुनून के साथ करती हूं। उन्होंने बताया कि वे घरेलू काम निपटाने के साथ ये काम करती हैं, जिससे उन्हें मानसिक शांति मिलती हैं।

सैनिकों की पत्नियों को भी करती हैं हस्तकला के लिए प्रेरित

बताते चलें कि नीरू हांडा पूर्वी सेना कमान अंतर्गत पत्नी कल्याण संघ (आवा) के चिल्ड्रेन व वेलफेयर कमेटी की चेयरपर्सन भी हैं। वह सैनिकों की पत्नियों को भी हस्तकला के लिए हमेशा प्रेरित करती रहती हैं। उनकी प्रेरणा से आज कई सैन्य अधिकारियों व जवानों की पत्नियां भी हस्तनिर्मित पेंटिंग्स, कपड़े के काम, घरेलू सजावट की वस्तुओं आदि का कार्य कर रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button