Uncategorized

फिर से भाजपा के सांसद ने की बंगाल विभाजन की मांग, पार्टी ने दी चेतावनी

 

डेस्क: पश्चिम बंगाल में भाजपा के एक सांसद जॉन बारला ने उत्तर बंगाल को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने की मांग की थी। इसके पीछे उन्होंने कारण बताया था कि बंगाल में भाजपा को अपना मतदान देने के कारण लोगों परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

भाजपा का साथ देने वाली जनता को बंगाल में राशन और रोजगार से वंचित रखा जा रहा है। बारला के अनुसार यहां की जनता को बंगाल सरकार के अत्याचारों से बचाने के लिए उत्तर बंगाल को केंद्र शासित प्रदेश बना देना चाहिए। बारला के इस राय पर भाजपा सांसद सौमित्र खान ने भी सहमति जताई है।

हालांकि पार्टी की तरफ से उन्हें इस तरह की बयान के लिए आगाह किया गया था। फिर भी उन्होंने एक बार फिर इस तरह की मांग की। बता दें कि उनके समर्थन में कई और भाजपा के नेताओं ने भी ऐसी मांगे रखी। साथ ही उन्होंने इस मामले को दिल्ली जाकर उठाने की बात भी कही।

उनके इस तरह की मांगो के बारे में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने उन्हें सुझाव दिया कि उन्हें पार्टी लाइन का पालन करना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा इस सदी के व्यक्तिगत राय के लिए पार्टी में जगह है। कोई भी अपना व्यक्तिगत राय पार्टी के सामने रख सकता है।

जॉन बारला के ऐसी बातें कहने के बाद पश्चिम बंगाल में सियासत काफी गर्म हो चुका है। विष्णुपुर के सांसद सौमित्र खान अलीपुरद्वार के सांसद जॉन बारला के बंगाल विभाजन वाले बयान के कारण इन दोनों सांसदों के ऊपर टीएमसी ने एफआईआर दर्ज करवाई है। उन दोनों पर लोगों की भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button