Crime

सदभावना के लिए बीएसएफ ने दो बांग्लादेशी बच्चों को बीजीबी को सौंपा

डेस्क: सीमा सुरक्षा बल की सीमा चौकी रंगियापोता के सतर्क जवानों ने जिला नदिया पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती इलाके में दो नाबालिग बांग्लादेशी बच्चों को दो बोरे गेंहू के भूसे ले जाते समय गिरफ्तार किया।

दिनांक 10 मार्च, 2021 को सीमा चौकी रंगियापोता के सतर्क जवान अपने इलाके में गस्त कर रहे थे। तकरीबन दोहपर 1350 बजे गस्त पार्टी ने अंतर्राष्ट्रीय सीमा के नजदीक दो संदिग्ध बच्चो को दो बोरो के साथ बांग्लादेश की ओर जाते देखा। गस्त दल ने उन्हें रुकने को कहा तो दोनो बच्चे वही पर रुक गए तथा सीमा सुरक्षा बल ने उन्हें दो भूसे के बोरो के साथ गिरफ्तार कर लिया और आगे की पूछताछ करने के लिए सीमा चौकी रंगियापोता ले कर आए।

प्रारंभिक पूछताछ करने पर उन्होने बताया अपनी पहचान मिलन अली, पुत्र- नूर इस्लाम अली और सुदीप हुसैन,पुत्र- नोसेध अली बताई दोनो की उम्र 12 वर्ष और दोनो गांव -ठाकुरपुर, थाना-धुमुरगुड़ा, बांग्लादेश के रहने वाले हैं। उन्होंने आगे बताया की हलेल नाम के बांग्लादेश व्यक्ति जोकि ठाकुरपुर गांव का रहने वाला हैं ने उन्हें कहा की आप लोग आरजू बीबी मंडल (भारतीय महिला) के घर से दो बोरे ले कर आओ मैं तुम दोनों को 60-60 टका दूंगा। जब हम भूसे के बोरे लेकर वापस बांग्लादेश जा रहे थे तभी सीमा सुरक्षा बल ने हमें पकड़ लिया।

जब्त किया गया सामान 55 किलो गेंहू का भूसा जिसे कस्टम विभाग मजदिया को आगे की कार्यवाही के लिए जमा कर दिया गया है।

बांग्लादेश बॉर्डर गार्ड ने बच्चों के माता-पिता के साथ सीमा सुरक्षा बल से बच्चों को वापस लेने के लिए संपर्क किया। मानवीय आधार और सद्भावना पूर्वक सीमा सुरक्षा बल ने दोनों नाबालिगों को बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश तथा गांव रंगियापोता के मेंबर व प्रधान की उपस्थिति में उनके माता-पिता को सौंप दिया।

साथ ही सीमा सुरक्षा बल ने बोर्डर गार्ड बांग्लादेश से अनुरोध किया की इस प्रकार के लोगो के खिलाफ़ कार्यवाही करे जो की नबालिको को इस परकार से इस प्रकार के अपराध करवाते हैं।

भारत – बांग्लादेश सीमा पर सीमा पार होने वाले सभी प्रकार के अपराधो के खिलाफ़ सीमा सुरक्षा बल सख्त कदम उठा रही हैं और अपराध करने वालो कोे खिलाफ अपराध की गंभीरता के अनुरूप कार्यवाही किया जाता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button